शनिवार, 26 फ़रवरी 2011

राज्य के प्रस्तावित बजट से अटल जी का सपना साकार होगा-श्री अशोक बजाज


    रायपुर, 26 फरवरी 2011

      छत्तीसगढ़ राज्य भण्डारगृह निगम के अध्यक्ष श्री अशोक बजाज ने कहा है कि मुख्यमंत्री ग्राम सड़क विकास योजना प्रारंभ होने से राज्य के सभी गांवों को मुख्य सड़क से जोड़ने की पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी की परिकल्पना अब साकार होगी। श्री बजाज ने प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ.  रमन सिंह द्वारा आज विधानसभा में वर्ष 2011-12  के लिए प्रस्तुत बजट पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि सरकार ने किसानों,गरीबों और कमजोर तबकों के लोगों के अलावा ग्रामीण विकास को सर्वोच्च प्राथमिकता दी है। उन्होंने सहकारी बैंकों और सहकारी समितियों के पदाधिकारियों तथा कर्मचारियों के प्रशिक्षण के लिए रायपुर में प्रशिक्षण् केन्द्र के लिए 50  लाख रूपए का प्रावधान करने पर सरकार को धन्यवाद दिया। श्री बजाज ने कहा कि इससे सहकारी संस्थाओं के कामकाज की गुणवत्ता में सुधार आयेगा।
      श्री बजाज ने बजट प्रस्ताव में नये वित्तीय वर्ष से सभी जिलों में रोजगार मेला आयोजित कर रोजगार के अवसर प्रदान करने के फैसले को रोजगार सृजन की दिशा में एक सार्थक पहल बताया। उन्होंने गाय के गोबर,गो-मूत्र और पंचगव्य से निर्मित किए जाने वाले सभी प्रकार के उत्पादों को करमुक्त करने,राज्य में औषधि और सुगंधित पौधों की खेती को प्रोत्साहित करने के लिए इससे निर्मित सुगंधित तेल को करमुक्त करने, जूते-चप्पलों समेत अन्य क्षेत्रों में कर छूट देने तथा आम लोगों एवं निम्न, मध्यवर्गीय परिवारों के हित में गैस चूल्हा पर कर की दर 14 प्रतिशत से घटाकर 5 प्रतिशत करने के निर्णय का स्वागत किया है। श्री बजाज ने शासन द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में मदिरा के कुप्रभाव को देखते हुए 02 हजार से कम आबादी वाले गांवों में देशी और विदेशी मदिरा की दुकानों को एक अप्रैल 2011  से बंद करने के निर्णय का भी स्वागत किया है। श्री बजाज ने विश्वास जताया कि छत्तीसगढ़ शासन के इस वर्ष के बजट से किसानों और ग्रामीणों का आर्थिक एवं सामाजिक विकास सुनिश्चित हो सकेगा तथा इससे छत्तीसगढ़ राज्य निर्माता पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी का सपना साकार होगा।


गुरुवार, 24 फ़रवरी 2011

मंडी अध्यक्षों ने अशोक बजाज से भेंट की

राज्य भंडार गृह निगम के अध्यक्ष अशोक बजाज से आज प्रदेश के विभिन्न कृषि उपज मंडी समिति के अध्यक्षों ने भेंट कर विभिन्न समस्याओं से अवगत कराया. भेंट करने वालों में दुर्गाप्रसाद सिंह (सारंगढ़), रामभगत ध्रुव(राजिम), गनपत ध्रुव(गोबरा नवापारा),बिजली सिदार(बरमकेला),मोहन ध्रुव(बेमेतरा), रामायण ध्रुव(बलौदाबाजार), जागेश्वेर ध्रुव(कुरूद), श्रीमती मनीषा(धमतरी), श्रीमती देवींन बाई नेताम (भाटापारा), श्रवण कुमार सिदार (सक्ती), कौशिल्या सोरी (चारामा), रश्मि गबेल (आमानदूला), अजय बंसल (चाम्पा) आदि शामिल थे.





रायपुर दिनांक 24 फरवरी 2011

राज्य भंडार गृह निगम के अध्यक्ष अशोक बजाज से आज प्रदेश के विभिन्न कृषि उपज मंडी समिति के अध्यक्षों ने भेंट कर अपनी  समस्याओं से अवगत कराया.  भेंट करने वालों में दुर्गाप्रसाद सिंह (सारंगढ़), रामभगत ध्रुव(राजिम), गनपत ध्रुव(गोबरा नवापारा),बिजली सिदार(बरमकेला),मोहन ध्रुव(बेमेतरा), रामायण ध्रुव(बलौदाबाजार), जागेश्वेर ध्रुव(कुरूद), श्रीमती मनीषा(धमतरी), श्रीमती देवींन बाई नेताम (भाटापारा), श्रवण कुमार सिदार (सक्ती), कौशिल्या सोरी (चारामा), रश्मि गबेल (आमानदूला), अजय बंसल (चाम्पा) आदि शामिल थे.

बुधवार, 23 फ़रवरी 2011

शांति और खुशहाली के लिए होंगे और भी बेहतर प्रयास : डॉ. रमन सिंह

 बुधवार, २३ फरवरी २०११





रायपुर 23 फरवरी 2011


छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि नया छत्तीसगढ़ राज्य अब एक नई करवट ले रहा है। प्रदेश की दो करोड़ से अधिक जनता विकास के एक दशक को पार कर अब ग्यारहवे वर्ष में प्रवेश कर चुकी है। इस दौरान राज्य शासन द्वारा विगत सात वर्षो में आम जनता के लिए शुरू की गई विभिन्न योजनाओं से पूरे देश में छत्तीसगढ़ की पहचान बनी है। गरीबों के लिए शुरू की गई अत्यंत किफायती चावल की योजना को अब केन्द्र सरकार पूरे देश में लागू करने जा रही है। डॉ. सिंह ने कहा कि भगवान राजीव लोचन और संत महात्माओं के आशीर्वाद से छत्तीसगढ़ में सुख-शांति, समृध्दि और खुशहाली लाने के लिए आने वाले वर्षो में और भी अधिक बेहतर प्रयास राज्य सरकार द्वारा किये जाएंगे। राजिम कुंभ ने छत्तीसगढ़ को देश के सांस्कृतिक मानचित्र पर एक नई पहचान दिलायी है।

मुख्यमंत्री आज रात महानदी, सोंढुर और पैरी नदियों के पवित्र संगम पर आयोजित राजिम कुंभ के छठवें दिन विशाल संत समागम को संबोधित कर रहे थे। उन्होनें कहा कि भगवान राजीव लोचन की कृपा, संत महात्माओं के आशीर्वाद और जनता के सहयोग से राजिम कुंभ का यह छठवां आयोजन यहॉ किया गया है मुख्यमंत्री ने कहा कि यह राजिम कुंभ का ही एक अच्छा और सुखद प्रभाव है कि इन छह वर्षो में छत्तीसगढ़ पर अकाल का कोई प्रभाव नहीं पड़ा, बल्कि देश का यह नया राज्य और भी अधिक तेजी से विकास के पथ पर आगे बढ़ता चला जा रहा है। पलायन की पीड़ा से छत्तीसगढ़ मुक्त हुआ है। सकल घरेलू उत्पाद की दृष्टि से राज्य की विकास दर 11.49 प्रतिशत रही जो देश में सबसे ज्यादा है। इसमें छत्तीसगढ़ ने गुजरात जैसे पुराने और विकसित राज्य को भी पीछे छोड़ दिया। डॉ. सिंह ने संत समागम मे पधारे गोवर्धन मठ, पुरी के जगत्गुरू शंकराचार्य स्वामी निष्चलानंद सरस्वती सहित देश भर से आए संत महात्माओं का स्वागत करते हुए कहा कि इनके आगमन से छत्तीसगढ़ की धरती धन्य हुई है। मुख्यमंत्री ने राजिम कुंभ में श्रध्दालुओं की सुविधा के लिए छह करोड़ रूपए की लागत से बनवाए गए एनीकट का उल्लेख करते हुए कहा कि इसमें आगामी वर्षो में छह फीट से भी ज्यादा पानी रहेगा। आने वाले वर्षो में राजिम कुंभ को इसकी गरिमा के अनुरूप बेहतर से बेहतर सुविधाओं से सुसज्जित किया जाएगा। संत समागम में प्रदेश के पर्यटन, संस्कृति, धार्मिक न्यास और धर्मस्व मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल, कृषि मंत्री श्री चन्द्रशेखर साहू, खाद्य मंत्री श्री पुन्नू लाल मोहले, छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल के अध्यक्ष श्री कृष्ण कुमार राय, छत्तीसगढ़ राज्य भण्डार गृह निगम के अध्यक्ष श्री अशोक बजाज, राजिम विधायक श्री अमितेष शुक्ल, संत कवि और पूर्व सांसद श्री पवन दीवान, पूर्व मंत्री श्री अजय चंद्राकर सहित अनेक जनप्रतिनिधि और हजारों की संख्या में भक्तजन उपस्थित थे। धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल ने इस अवसर पर कहा कि हमारे लिए सौभाग्य की बात है कि छत्तीसगढ़ के इस पावन तीर्थ राजिम में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में प्रदेश सरकार द्वारा कानून बनाकर राजिम कुंभ की परम्परा की शुरू की गई । जहां धर्मात्माओ का राज होता है वहां परमात्मा का वास होता है। श्री अग्रवाल ने कहा कि कोई भी कुंभ साधु-संतों के बिना सार्थक नहीं होता। राजिम कुंभ साधु-संतों वाणी से ही चरितार्थ हो रहा है। उन्होने कहा कि साधु-संतो के आशीर्वाद से हम छत्तीसगढ़ को एक ऐसा आदर्श राज्य बनाएंगे जहां धर्म की रक्षा हो,  सुख शांति हो और कोई भूखा न रहे। छत्तीसगढ़ धर्म धरा है। राजिम कुंभ के माध्यम से धर्मध्वजा पूरे विश्व में लहराएगी। कृषि मंत्री श्री चंद्रषेखर साहू ,खाद्य मंत्री श्री पुन्नू लाल मोहले और विधायक श्री अमितेष शुक्ल ने भी संत समागम में अपने विचार व्यक्त किए। गोवर्धन मठ, पुरी के पीठाधीश्वर जगत गुरू शंकराचार्य स्वामी निष्चलानंद महाराज ने इस अवसर पर आशीष वचन में लोगों को मांस-मंदिरा जैसी सामाजिक बुराईयों से बचने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि वैदिक संस्कृति के महत्व पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि आज राष्ट्र निर्माण के लिए वैदिक संस्कृति और संस्कारों के अनुरूप समाज के विकास और जनकल्याण के लिए शासन तंत्र को तत्पर रहना चाहिए। स्वामी निश्चलानंद महाराज ने कहा कि प्रकृति के साथ संतुलन बनाकर विकास करना पूरे विश्व के लिए लाभदायक होगा। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने संत समागम के अवसर पर भगवान राजीव लोचन के मंदिर में पूजा अर्चना की और छत्तीसगढ़ सहित सम्पूर्ण राष्ट्र की सुख-समृध्दि और खुशहाली के लिए उनसे आशीर्वाद मांगा। डॉ.  सिंह ने इस मौके पर पुरी पीठाधीश्वर जगतगुरू शंकराचार्य स्वामी निश्चलानंद जी सहित सभी आमंत्रित साधु-संतों से भी आशीर्वाद प्राप्त किया।

राजिम कुंभ की झलकियाँ








सोमवार, 21 फ़रवरी 2011

राज्य भण्डार गृह निगम 2.81 लाख मीटरिक टन क्षमता के नये गोदाम बनाएगा : श्री अशोक बजाज

संचालक मण्डल की बैठक सम्पन्न

    रायपुर, 21 फरवरी 2011

     छत्तीसगढ़ राज्य भण्डार गृह निगम द्वारा अनाजों के सुरक्षित भण्डारण के लिए प्रदेश के विभिन्न अंचलों में लगभग 85 करोड़ रूपए की लागत से दो लाख 81  हजार मीटरिक टन क्षमता के नये गोदाम बनाने का निर्णय लिया गया है। इन गोदामों के बन जाने से निगम की स्वनिर्मित भण्डारण क्षमता लगभग ग्यारह लाख मीटरिक टन हो जाएगी। यह निर्णय राज्य भण्डार गृह निगम के अध्यक्ष श्री अशोक बजाज की अध्यक्षता में आज यहां संचालक मण्डल की 24वें बैठक मे लिया गया। बैठक में खाद्य, नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता सरंक्षण विभाग के प्रमुख सचिव श्री विवेक ढांड सहित संचालक मण्डल के सदस्यों में सर्वश्री ए. के. सिंह, कौशलेन्द्र सिंह, जे.वी.बेन्द्रे, विपीन कुमार भारद्वाज, ए.आर.साहू एवं निगम के प्रबंध संचालक श्री जितेन कुमार उपस्थित थे।
    श्री बजाज ने मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री ने प्रदेश में अनाजों के सुरक्षित भण्डारण के लिए विभिन्न विकास प्राधिकरणों से गोदामों के निर्माण के लिए राशि उपलब्ध करायी है। इसके कारण ही आज भण्डारण क्षमता में वृध्दि हो पाई है। उन्होंने कहा कि निगम में निवेशित धन के उपयोग से निगम का व्यवसाय सतत् आगे बढ़ रहा है। इस योगदान के लिए वे सभी को धन्यवाद दिया और आशा व्यक्त किया है कि भविष्य में निगम आप सभी के सहयोग से नई ऊचाई तय करेगा। उन्होंने कहा कि वित्तीय वर्ष 2009-10 में अनाजों के सुरक्षित भण्डान के लिए प्रदेश में भण्डार गृह निगम की 106 शाखाएं सचालित थी। वर्तमान में इसकी संख्या 108 हो गई है। उन्होंने कहा कि निगम ने प्रतिवर्ष  अपनी भण्डारण क्षमता का सत्-प्रतिशत से अधिक उपयोग किया है।
    श्री बजाज ने बताया कि निगम द्वारा वित्तीय वर्ष 2009-10 में 52 करोड़ 39 लाख 44 हजार का राजस्व अर्जित किया है। उन्होंने बताया कि आलोच्य वर्ष में निगम का कुल अर्जित लाभ 33 करोड़ 17 लाख 19 हजार रूपए तथा आयकर अदायगी के पश्चात् शुध्द लाभ 21 करोड़ 84 लाख 16 हजार रूपए है। इस प्रकार निगम की कुल आय में 32.59 प्रतिशत की वृध्दि हुई है। श्री बजाज ने कहा कि राज्य भण्डार गृह निगम निरंतर लाभ में चल रहा है और अंशधारियों को 20 प्रतिशत लाभ का भुगतान भी कर रहा है। उन्होंने बताया कि लाभार्जन के कारण निगम के निदेशक मण्डल ने प्रतिवेदित वर्ष में भी प्रदत्त पूंजी पर 20 प्रतिशत की दर से लाभांश भुगतान करने का निर्णय लिया है। श्री बजाज ने कहा कि निगम अपने भण्डारगृहों में भाण्डारित स्टाक की गुणवत्ता एवं उसकी मात्रा की सुरक्षा सुनिश्चित करने का कार्य करेगा।

रविवार, 20 फ़रवरी 2011

सिरपुर महोत्सव के दूसरे दिन श्री बजाज ने किया कार्यक्रम का शुभांरभ


महासमुंद, 19 फरवरी 2011
छत्तीसग़ढ राज्य भंडार गृह निगम के अध्यक्ष श्री अशोक बजाज ने कहा कि छत्तीसग़ढ के पवित्र तीर्थ स्थली सिरपुर में उत्खनन से जो अवशेष प्राप्त हो रहे है उससे स्पष्ट है कि यहाँ सदियों पहले विकसित मानव सभ्यता का अस्तित्व था। मुख्य अतिथि की आंसदी से श्री बजाज सिरपुर महोत्सव के दूसरे दिन माघ पूर्णिमा के अवसर पर आयोजित समारोह को संबोधित कर रहे थे।
    श्री बजाज ने कहा कि सिरपुर में लक्ष्मण मंदिर, बौध्द स्तूप जैसे पुरातात्विक और धार्मिक महत्व के धरोहर स्थित है, इन धरोहरों सहित पूरे सिरपुर क्षेत्र को संरक्षित रखने की जरूरत है। सिरपुर को राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर महत्ता प्रदान करने के उद्देश्य से ही राज्य सरकार द्वारा हर वर्ष सिरपुर महोत्सव का आयोजन किया जाता है। उन्होंने कहा कि सिरपुर में खनन से प्राप्त हो रहे पुरातात्विक अवशेषों को संरक्षित रखने के लिए यहाँ विशेष संग्रहालय स्थापित करने की आवश्यकता है। कार्यक्रम की अध्यक्षता सरायपाली विधायक डॉ.हरिदास भारद्वाज ने की इस अवसर पर विशेष अतिथि श्री चंद्रहास चंद्राकर , जनपद पंचायत अध्यक्ष डॉ. रश्मि चंद्राकर, जिला पंचायत सदस्य श्रीमती पार्वती साहू, सरपंच श्रीमती पुष्पा यादव,  जनपद पंचायत सदस्य श्री तुलू राम धु्रव सहित श्री राकेश  चंद्राकर,श्री दाऊलाल चंद्राकर श्री माखनधर   दीवान,श्री शोभाराम साहु , श्री माधव टाँकसाले  ,श्री सेतराम पटेल ,श्री सुखीराम हिरवानी   ,श्री पोखन ढीढी ,कलेक्टर अलर मेल मंगई डी,     और श्री ओमप्रकाश चौधरी उपस्थित थे।

शुक्रवार, 11 फ़रवरी 2011

बालोद विधान सभा उप-चुनाव

दैनिक "प्रखर समाचार " रायपुर, 11.02.2011





दैनिक "तरूण छत्तीसगढ़ " रायपुर, 11.02.2011

गुरुवार, 10 फ़रवरी 2011

बालोद विधान सभा उप-चुनाव

दैनिक " अग्रदूत   " रायपुर , 10.02.2011

दैनिक "तरूण छत्तीसगढ़ " रायपुर , 10.02.2011


दैनिक  "नेशनल लुक "  रायपुर, 10.02.2011

दैनिक " छत्तीसगढ़ वाच  " रायपुर , 11.02.2011

मंगलवार, 8 फ़रवरी 2011

भाजपा को जिताने की अपील

छत्तीसगढ़ स्टेट वेयरहाउस कारपोरेशन के अध्यक्ष अशोक बजाज ने बालोद विधान सभा क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम  पलारी,अरमरीकलां,सनौद,अरकार,देवकोट,डोटोंपार एवं कोसगोंदी में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि भाजपा को जिताने के लिए सभी कार्यकर्ता प्राणप्रण से जुट जाएँ ,उन्होंने कहा कि डा.रमण सिंह ने पिछले 7 वर्षों में प्रदेश का चहुँमुखी विकास  किया है ,विकास का यह सिलसिला आगे भी जारी रहे इसके लिए आवश्यक है कि भाजपा प्रत्याशी कुमारी बाई साहू को प्रचंड मतों से विजयी बनायें . श्री बजाज ने पलारी गाँव में शक्ति केंद्र कार्यालय का भी उदघाटन किया ,इस अवसर पर पूर्व विधायक त्रिलोचन पटेल ,भानु प्रताप साहू,निर्मल बरडिया,सरपंच कुमारी बाई साहू ,राजेश कुमार साहू ,मेघनाथ साहू ,संतोष गंगबेर एवं नीता साहू सहित भारी संख्या में  लोग उपस्थित थे . ग्राम अरमरी कलां में स्टार कलाकार मोना सेन ने छतीसगढ़ी गीतों से समां बांधा.