गुरुवार, 4 अगस्त 2011

जिला सहकारी संघ मर्यादित रायपुर का स्वर्ण जयंती समारोह

समाज के कमजोर वर्गों का उत्थान सहकारिता से ही संभव : श्री कंवर


रायपुर, 04 अगस्त 2011

2113-040811
गृह, जेल एवं सहकारिता मंत्री श्री ननकीराम कंवर ने कहा कि सहकारिता के माध्यम से ही समाज के कमजोर वर्गों का उत्थान संभव है। समाज के कमजोर वर्गों के उत्थान के लिए सहकारी समितियां गठित कर रोजगार के अवसर बढ़ाए जा सकते हैं । उन्होंने कहा कि कमजोर वर्गों के उत्थान से ही प्रदेश का विकास होगा। श्री कंवर जिला सहकारी संघ मर्यादित रायपुर की स्थापना के पचास वर्ष पूरे होने पर आज यहां शहीद स्मारक भवन में  आयोजित स्वर्ण जयंती समारोह को मुख्य अतिथि की आसंदी से सम्बोधित कर रहे थे। इस अवसर पर सहकारिता मंत्री श्री कंवर ने जिला सहकारी संघ मर्यादित रायपुर के 50 वर्ष पूरे होने पर प्रकाशित स्मारिका का विमोचन किया।
    श्री कंवर ने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के  नेतृत्व में विगत लगभग आठ वर्षों में प्रदेश का  चहुंमुखी विकास हुआ है। एक समय था कि जब किसानों को चौदह प्रतिशत वार्षिक ब्याज दर पर खेती के लिए ऋण लेना पड़ता था लेकिन अब राज्य सरकार ने भरपूर राहत प्रदान कर किसानों को तीन प्रतिशत वार्षिक ब्याज दर पर खेती के लिए ऋण उपलब्ध करा रही है। उन्होंने कहा कि समर्थन मूल्य पर  सहकारी समितियों के जरिए धान खरीदी की व्यवस्था किसानों को दलालों और बिचौलियों से मुक्ति दिलाने का एक सशक्त आधार है। छत्तीसगढ़ प्रदेश की सार्वजनिक वितरण प्रणाली की कामयाबी की चर्चा देश ही नहीं बल्कि विदेशों में भी हो रही है।
    कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए स्कूल शिक्षा और लोक निर्माण मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल ने जिला सहकारी संघ मर्यादित रायपुर की स्थापना के पचास वर्ष पूरे होने पर सहकारिता से जुड़े लोगों को अपनी बधाई और शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि सहकारिता की भावना से ही देश में एकता और अखण्डता कायम है। गांवों के विकास के लिए सहकारिता की भावना पैदा करनी होगी। श्री अग्रवाल ने कहा कि पिछले लगभग आठ वर्षों से मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में राज्य सरकार द्वारा किसानों के हित में कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए हैं। सहकारी समितियों के माध्यम से किसानों को तीन प्रतिशत वार्षिक ब्याज दर पर खेती के लिए अल्पकालीन ऋण की सुविधा दी जा रही है। इस वर्ष चालू खरीफ सीजन में किसानों को एक हजार पांच सौ करोड़ रुपए ऋण वितरण का लक्ष्य है। श्री अग्रवाल ने ग्रामीण युवाओं को रोजगार उन्मुखी योजनाओं से  जोड़ने पर बल दिया। कार्यक्रम के विशेष अतिथि छत्तीसगढ़ राज्य भण्डार गृह निगम के अध्यक्ष श्री अशोक बजाज ने कहा कि छत्तीसगढ़ में सहकारिता आंदोलन का इतिहास बहुत पुराना है। पिछले लगभग आठ वर्षों में सहकारिता के क्षेत्र में जो विकास कार्य हुए हैं, वह अविस्मरणीय है। उन्होंने किसानों के हित और उन्नति के लिए बेहतर काम करते रहने का आह्वान किया। स्वागत भाषण जिला सहकारी संघ रायपुर के अध्यक्ष श्री कुमार सिंह ने दिया।
    स्कूली छात्र-छात्राओं द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया गया। इस अवसर पर छत्तीसगढ़ राज्य सहकारी विपणन संघ के अध्यक्ष श्री राधाकृष्ण गुप्ता, राज्य अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष श्री दिलीप सिंह होरा, पंजीयक सहकारी संस्थाएं श्री अमृत खलखों सहित विभिन्न जिलों से आये सहकारी संघों के पदाधिकारी और सदस्य उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें