गुरुवार, 4 अगस्त 2011

मुख्यमंत्री को ‘सहकारिता रत्न’ सम्मान

गांव, गरीब और किसानों का विकास 

रायपुर, 04 अगस्त 2011
मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह को आज रात यहां उनके निवास पर छत्तीसगढ़ राज्य भण्डारगृह निगम के अध्यक्ष श्री अशोक बजाज के नेतृत्व में आए सहकारिता आन्दोलन से जुड़े विभिन्न संगठनों के प्रतिनिधि मण्डल ने ‘सहकारिता रत्न’ सम्मान से नवाजा। उल्लेखनीय है कि रायपुर जिला सहकारी संघ के आज मनाए गए स्वर्ण जयंती समारोह में मुख्यमंत्री अपरिहार्य कारणों से शामिल नहीं हो पाए थे। इसलिए प्रतिनिधि मण्डल ने उनके निवास पर आकर उन्हें सहकारिता रत्न सम्मान प्रदान किया।

    प्रतिनिधि मण्डल ने छत्तीसगढ़ में सहकारिता आन्दोलन के माध्यम से गांव, गरीब और किसानों की बेहतरी के लिए मुख्यमंत्री द्वारा लिए गए ऐतिहासिक फैसलों और संचालित योजनाओं का उल्लेख करते हुए उनका अभिनन्दन भी किया। सहकारिता प्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री को अभिनन्दन पत्र भेंट किया। सहकारिता प्रतिनिधियों ने कहा कि मुख्यमंत्री के नेतृत्व में राज्य में जहां सहकारी समितियों के माध्यम से किसानांे को सिर्फ तीन प्रतिशत वार्षिक ब्याज पर खेती के लिए ऋण सुविधा मिल रही है, वहीं इन समितियों के जरिए समर्थन मूल्य नीति के तहत धान खरीदी का कार्य भी सफलता पूर्वक चल रहा है। उन्होंेने  मुख्यमंत्री को बधाई देते हुए कहा कि डॉ. रमन सिंह के कुशल नेतृत्व में छत्तीसगढ़ को वर्ष 2010-11 में सर्वाधिक चावल उत्पादन के लिए भारत सरकार की ओर से राष्ट्रीय पुरस्कार मिला है और स्वयं प्रधानमंत्री ने पिछले महीने की सोलह तारीख को नई दिल्ली में मुख्यमंत्री को यह पुरस्कार प्रदान किया है।

    प्रतिनिधि मण्डल में छत्तीसगढ़ राज्य सहकारी विपणन संघ के अध्यक्ष श्री राधाकृष्ण गुप्ता, उपाध्यक्ष श्रीमती शांति मांझी, ब्रेवरेज कार्पोरेशन के अध्यक्ष एवं विधायक श्री देवजी भाई पटेल, जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक दुर्ग के अध्यक्ष श्री प्रीतपाल बेलचन्दन, जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक राजनांदगांव के अध्यक्ष श्री शशिकांत द्विवेदी, जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक बिलासपुर के अध्यक्ष श्री देवेन्द्र पाण्डेय, जिला सहकारी संघ रायपुर के अध्यक्ष श्री कुमार सिंह और संचालक राज्य सहकारी बैंक श्री रमाकांत द्विवेदी, उपभोक्ता सहकारी संघ की संचालक श्रीमती हेमलता परते सहित अनेक प्रतिनिधि शामिल थे।DPR

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें