शनिवार, 31 दिसंबर 2011

मित्रों का अनुराग और पानी की बौछार

ख़िरकार वर्ष 2011 बीत गया और वर्ष 2012 आ गया .आईये हम सब मिलकर बीते वर्ष की बिदाई करें तथा नए वर्ष 2012 का स्वागत करें .हालाँकि सब कुछ वही है केवल समय चक्र बदल रहा है .  वर्ष 2011 के अंतिम दिन मौसम ने अंगड़ाई ली और असमान से बौछारें पड़ने लगी है . ऐसा लग रहा है मानों बारिस की बूंदें भी नए वर्ष का स्वागत कर रही हो. शाम से लगातार बारिस हो रही है और अभी तक यानी रात के 11.50 बजे तक जब मई यह पोस्ट लिख रहा हूँ बारिस थमने का नाम नहीं ले रही है .थर्टी फर्स्ट मनाने वाले को निश्चित रूप से परेशानी हो रही होगी .  कुछ लोग टी.वही.से चिपके होंगे . मोबाईल,फेसबुक, ब्लाग और ई-मेल में बधाइयों की बरसात हो रही है . एक बधाई सन्देश पढ़ नहीं पाते कि दूसरा सन्देश आ जाता है. समय पर हम अपना बधाई सन्देश भेज नहीं पा रहे है . इस पोस्ट के माध्यम से आप सबको बधाई सन्देश भेजने का प्रयास कर रहा हूँ ,कृपया इस सन्देश के साथ मेरा बधाई सन्देश स्वीकार करे .    



आप सबको नव-वर्ष 2012 की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं !

1 टिप्पणी:

  1. अशोक जी,

    आपको सपरिवार नव-वर्ष 2012 की हार्दिक बधाई एवं अनंत शुभकामनाएं !

    आपके स्नेही स्वजन पाठको को भी हार्दिक शुभकामनाएं।

    शब्द पुष्टिकरण हटा दें तो टिप्पणीकारों को कुछ आसान रहे॥ :)

    उत्तर देंहटाएं